सामान्य जानकारी (एफ ए क्यु)

ब्यूरो का कार्य क्या है?
लोक सेवकों तथा राज्य सेवकों के विरुद्ध प्राप्त शिकायत/सूचना के आधार पर आर्थिक अपराधों, विशिष्ट प्रकार के कपट, सम्पत्ति छिपाना, करों की चोरी आदि की जानकारी एकत्रित करना तथा जहाँ आवश्यक हो, ऐसे अपराधों का अन्वेषण एवं राष्ट्र की अखण्डता नष्ट करने का प्रयास करने वाले व्यक्तियों तथा समूहों एवं राष्ट का विघटन, भारतीय संविधान के प्रति अनिष्ठा तथा लोक सेवकों में अनिष्ठा की प्रवृत्ति को उकसाने वाले व्यक्तियों तथा समूहों के बारे में सूचनाये एकत्रित करना तथा ऐसे अपराधों का अंवेषण करने का कार्य संपादित करता है.
ब्यूरो का उद्देश्य क्या है?
भ्रष्ठाचारियों को हतोत्साहित कर सरकार और उसके माध्यमों को शासितों के प्रति जबावदेह बनाना तथा सुदृढ व सम्पन्न प्रदेश के निर्मांण मे सहयोग करना.
शिकायत /सूचना किसे व कैसे दें?

लिखित अथवा मौखिक रूप से ब्यूरो मुख्यालय अथवा इकाईयों में शिकायत प्रस्तुत की जा सकती है. अदि आवश्यक हो तो शिकायतकर्ता /सूचना दाता का नाम गोपनीय रखा जाता है.
क्या शिकायतकर्ता /सूचना दाता को पुरस्कृत भी किया जाता है?
हाँ, उचित प्रतीत होने पर शिकायतकर्ता /सूचना दाता को पुरस्कृत भी अवश्य किया जाता है.
ब्यूरो व जिला पुलिस बल में क्या अंतर है?
ब्यूरो राज्य के आर्थिक अपराधों की गहनता से जाँच करता है, इस कार्य हेतु इसे विशेष दक्षता प्राप्त है. अन्य अपराधों जैसे चोरी, डकैती, अपहरण, बलात्कार आदि प्रकरणों पर ब्यूरो कार्य नहीं करता है. इस तरह के प्रकरण जिला पुलिस बल द्वारा देखे जाते है.
ब्यूरो में भरती हेतु क्या नियम है?
ब्यूरो के पदों पर सीधी भर्ती का कोई प्रावधान नहीं है. भारतीय पुलिस सेवा, राज्य पुलिस सेवा एवं जिला पुलिस बल के अधिकारी एवं कर्मचारी ही जिनका रिकार्ड अच्छा होता है, स्थानांतरण पर ब्यूरो में कार्य करते है. ब्यूरो के कार्य का विशेष प्रशिक्षण अधिकारियों को दिया जाता है.